}

दिवाली का महत्व

क्या आप जानते हैं? हम दिवाली क्यों मनाते हैं? उस दिन भगवान महावीर मोक्ष पहुँचे थे| जब कोई भी जीव मोक्ष में जाता है तब आकाशवाणी होती है, देव दुंदुभियाँ बजाते हैं जिससे सभी को पता चल जाता है कि वह जीव मोक्ष में गया| जबकि वे तो तीर्थंकर भगवान| उनके मोक्ष पधारने की आकाशवाणी सुनकर सभी देवी-देवता हर्षोल्लास से नाच उठे| फूलों की वर्षा करके और दीपमाला प्रकटाकर उन्होंने भगवान के निर्वाण का उत्सव मनाया| इसीलिए हम भी दिवाली के दिन दीपमाला प्रकटाते हैं|

भगवान के मोक्ष में पहुँचने के समाचार सुनकर उनके प्रथम गणधर गौतम स्वामी, जो उस समय वहाँ उपस्थित नहीं थे, उन्हें बहुत आघात लगा| उस समय विचारों के मंथन के अंत में उन्हें भगवान की वीतरागता के दर्शन हुए| बस! उसी क्षण उन्हें केवलज्ञान प्रकट हो गया|

तो आइए, इस दिवाली पर हम भी उन बातों को याद करें और हमें भी केवलज्ञान प्रकट हो और अंत में मोक्ष में जाने की भावना करें|